पोस्ट

जुलाई, 2018 की पोस्ट दिखाई जा रही हैं

मन्दारमणि...लहरों की अटखेलियों में खुद को तलाशती दो लड़कियाँ

इमेज
मन्दारमणि के समुद्र तट पर हम जल...जीवन है और जल आनन्द भी है....जल सृजन भी है और जल विनाश भी है मगर इन सबसे परे जल जीवन का सौन्दर्य भी है। प्रकृति और इतिहास, दोनों मुझे खींचते हैं और विशाल लहराता समुद्र तो बाँध लेता है। सबसे पहले काम के सिलसिले में ही 2008 -09 के बीच मुम्बई जाना हुआ और वहाँ पर जुहू बीच देखा था। उसके साथ वहाँ फैली गन्दगी भी देखी और शहर को राहत के छींटे देती लहरें भी देखीं मगर तब समुद्र अजनबी था। उसे जानने और देखने की इच्छा बलवती थी...आज वर्षों के बाद दुनिया घूमने और इतिहास को समझने की इच्छा प्रबल हो गयी है तो बस मौका मिलने पर भी भाग जाने का प्रयास करती हूँ। अच्छी बात यह है कि नियति और अवसर, दोनों मुझे अवसर देते हैं और एक अवसर इस बार भी मिला। कार्यालय के साप्ताहिक अवकाश के बीच एक दिन अपने लिए निकालने का और जब एक अपनी सी सहेली मिल जाए तो आनन्द को दोगुना तो होना ही था। वाराणसी से नीलम दो साल बाद जब कोलकाता आयी तो बस उसके सामने प्रस्ताव रखा और वह मान भी गयी..यह उसके लिए अनायास और अत्प्रत्याशित घटना थी, मेरे लिए यह सुखद आश्चर्य से भरा अवसर था। आखिरकार 3 जून को हम

दुनिया बदलनी है तो पहले माँ, पत्नी, बहन या बेटी नहीं, औरत बनकर सोचिए

इमेज
राजस्थान में एक महिला ने अपनी देवरानी को पति के साथ मिलकर पेड़ से बाँधकर बुरी तरह पीटा। महिला का बेटा रोता रहा...उसे दया नहीं आयी। भीड़ ने तमाशा देखा और किसी ने वीडियो भी बना लिया। वीडियो जब वायरल हुआ तो पुलिस ने अभियुक्तों को गिरफ्तार किया....यहाँ खास बात यह है पीड़िता महिला की सगी बहन थी...आप कोसेंगे...कोसिए..जी भरकर कोसते रहिए.....मगर क्या यह ऐसी एकमात्र घटना है? ऐसी घटनायें होती रहती हैं और आप मजा लेते रहते हैं और औरतों की एक दूसरे के बाल खींचती तस्वीरें साझा कर चुटकुले बनाते रहते है और फिर ऐसे ही चलता रहेगा...सोचकर ठंडी आहें भरते हैं। ऐसा नहीं है कि साहित्य जगत इससे अछूता है। एक महाशय स्त्रियों को सेक्स ऑब्जेक्ट घोषित कर देते हैं और तमाम स्त्रियाँ उनके पक्ष में खड़ी हो जाती हैं। यहाँ तक कि महिलाओं के प्रति होने वाले अपराधों को लेकर भी औरतें एक साथ नहीं आतीं। पति के लिए सौतन को मारने वाली या रखने वाली ही औरते ही हैं। कई मामले तो ऐसे भी दिखते हैं जब पति के सथ मिलकर किसी महिला ने किसी दूसरी महिला का बलात्कार करवाया..ऐसे में जाहिर है कि वे औरत नहीं रह जाती हैं बल्कि वे पति, बहन य